Whats Happening in INDORE Jamaat?

The purpose of this Forum is to highlight and discuss issues pertaining to specific Jamats. Please use this space responsibly and report facts. We reserve the right to edit/delete posts that we find are irrelevant and based on gossip and hearsay.
The Mukhlis
Posts: 5
Joined: Wed Dec 01, 2010 5:31 am

Whats Happening in INDORE Jamaat?

#1

Unread post by The Mukhlis » Thu Dec 02, 2010 7:11 am

Rupees 1 Crore looted from Dar'ul Imarat of Indore and a note was left by the thief "Chor k ghar Chori" "Tu bhi chor mai bhi chor"

incredible
Posts: 1034
Joined: Tue Apr 27, 2010 11:44 pm

Re: Whats Happening in INDORE Jamaat?

#2

Unread post by incredible » Thu Dec 02, 2010 9:00 am

hahaha omg is this true?

incredible
Posts: 1034
Joined: Tue Apr 27, 2010 11:44 pm

Re: Whats Happening in INDORE Jamaat?

#3

Unread post by incredible » Thu Dec 02, 2010 9:00 am

I am sorry for the money it must be from poor momeenin...

mumin
Posts: 398
Joined: Tue Dec 12, 2000 5:01 am

Re: Whats Happening in INDORE Jamaat?

#4

Unread post by mumin » Thu Dec 02, 2010 1:35 pm

there are also news that during ramadan a lot of cash was recieved in bombay from ziafat, zakat etc. some one from the clergy was taking all this oney to surat and was robbed. It is a monumental task to confirm because as you all know the facts are hidden from the mumineen and everything is hushed up.
that i beieve is also the reason why now instead of demanding cash money they are asking for one tola and ten tola gold. the clergy is also very cunning. they are also aware that the price of gold is going up. that is the reason why Tamimi and other bhaisahebs and amils around the world are asking for gold instead of cash.

S. Insaf
Posts: 1494
Joined: Thu Sep 11, 2003 4:01 am

Re: Whats Happening in INDORE Jamaat?

#5

Unread post by S. Insaf » Fri Dec 03, 2010 9:28 am

There is a very good quote in today's Times of India on Editorial page by the film maker Madhu Bhandarkar "Our politicians are playing KBC in the reverse order - They make crores first and answer questions later.

The Mukhlis
Posts: 5
Joined: Wed Dec 01, 2010 5:31 am

Re: Whats Happening in INDORE Jamaat?

#6

Unread post by The Mukhlis » Sat Dec 04, 2010 5:52 am

Salam/w

@Mumin

you r right my bro the same thing took place here in Indore and after being robed Bhai Sahab is asking all the Momineens to clear all their dues of Mu'asaat....all momeens are Idiot they just do what ever jamat would say they wnt even think of.....

blue
Posts: 39
Joined: Sat Aug 07, 2010 4:48 am

Re: Whats Happening in INDORE Jamaat?

#7

Unread post by blue » Fri Dec 10, 2010 7:31 am

In UJJAIN many years ago ashra majlis was observe only in main roza. than some years ago there was two venue another one in hasanji badshah masjid. but now there majlis is being observed in FOUR madjids. for a town like ujjain these are too many.

The Mukhlis
Posts: 5
Joined: Wed Dec 01, 2010 5:31 am

Re: Whats Happening in INDORE Jamaat?

#8

Unread post by The Mukhlis » Sat Mar 26, 2011 4:19 pm

Latest News ........may every body knows that y Molana (TUS) dnt come to Indore ...................!!!!! this was a shocking news for all the momineens in Indore as came to know that Molana (TUS) is nt gonna come to Indore and all this was just because of the Juzar Bhai Saheb & his son Muffadal bhai saheb cause they both asked wajebat twice from all the momins of Indore by saying that this is for barakat and we r going to arz this wajebat to Bawasaheb and he also introduced a new idea of so called - Golden Card to get this card u had to pay 21000 Rs/- for niyaaz. After geting this u can show this in office of any place and get ur work done fast and this was discrimination among Bohras ...whn Molana (TUS) came to know abt this he fired both the looters frm Indore and refused to come to Indore ....What a shame.

SBM
Posts: 6350
Joined: Sun May 09, 2004 4:01 am

Re: Whats Happening in INDORE Jamaat?

#9

Unread post by SBM » Sun Apr 03, 2011 5:24 pm

Mukhalis
So Syedna would not come to Indore because his appointed Aamil looted the community. So instead of returning money to the people, he decided to punish Mumineen of Indore by not visiting Indore, WHAT A GREAT JUSTICE?

Abbas_chopra
Posts: 5
Joined: Tue Aug 09, 2011 12:41 pm

Re: Whats Happening in INDORE Jamaat?

#10

Unread post by Abbas_chopra » Thu Aug 11, 2011 2:44 am

Indore jamat is very wealthy :)one crore:)to hath ka mail he:)but the chor has written a wonderful phrase :)jo hum nahn keh sake wo usne keh diya:)keep it up...

blue
Posts: 39
Joined: Sat Aug 07, 2010 4:48 am

Re: Whats Happening in INDORE Jamaat?

#11

Unread post by blue » Wed Nov 30, 2011 4:44 am

सैफी नगर मस्जिद में वाअज के दौरान हादसा
छज्जा गिरा, डॉक्टर की मौत



अवैध निर्माण को लेकर जताया आक्रोश

उधर हादसे से आक्रोशित समाज के लोगों ने डॉ.अली का शव काफी देर तक सैफी नगर मस्जिद में रोके रखा। बाद में शव को सदर बाजार कब्रिस्तान में सुपुर्द खाक किया गया। लोगों का आरोप था कि कुछ लोगों ने मस्जिद की जमीन पर कब्जा कर अवैध निर्माण कर लिए हैं। पार्षद छोटे यादव भी मौके पर पहुँचे। लोगों ने उनके सामने भी समस्याएँ रखीं। लोगों ने बताया कि उन्होंने महापौर को सैफी नगर आने के लिए फोन लगाया था, वे बुधवार सुबह सैफी नगर आकर मामला देखेंगे।

जमीन अवैध रूप से हस्तांतरित की

समाज के लोगों का आरोप था कि समाज को मस्जिद के लिए १ लाख ११ हजार वर्गफुट जमीन एक रुपए वर्गफुट की दर से लीज पर मिली थी। लेकिन कुछ रसूखदार लोगों ने इसमें से ९१ हजार वर्गफुट जमीन अवैध रूप से हस्तांतरित कर अवैध निर्माण कर लिए हैं। अवैध निर्माण को हटाने के लिए कई बार निगम में आवेदन दे चुके हैं लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। इन लोगों का आरोप था कि अवैध निर्माणों की वजह से ही मंगलवार को हादसे के बाद फायर ब्रिगेड की गाड़ियाँ मस्जिद परिसर तक नहीं पहुँच सकीं। जगह नहीं होने की वजह से डॉ.अली को मस्जिद से बाहर लाने में काफी वक्त लग गया जो उनके लिए जानलेवा साबित हुआ। लोगों ने बताया कि हादसे में १२ से १५ महिलाएँ भी घायल हुई हैं। ङ"ख११ऋ

्‌ीटा्र ङ"ख११ऋ

्‌ीटा्रप्रसिद्ध नेत्र चिकित्सक थे

डॉ. असगर अली शहर के जाने-माने नेत्र चिकित्सक थे। उनका खातीवाला टेंक में क्लिनिक है। उसी इमारत में उनके बेटे कुरैश का सिटी ऑप्टिकल नामक दुकान है। हादसे के दौरान कुरैश भी वहीं मौजूद था।मंगलवार दोपहर सैफी नगर स्थित बोहरा मस्जिद का छज्जा गिरने से अफरा-तफरी मच गई। फोटो : विजय शर्मा अवैध निर्माण को लेकर जताया आक्रोश

उधर हादसे से आक्रोशित समाज के लोगों ने डॉ.अली का शव काफी देर तक सैफी नगर मस्जिद में रोके रखा। बाद में शव को सदर बाजार कब्रिस्तान में सुपुर्द खाक किया गया। लोगों का आरोप था कि कुछ लोगों ने मस्जिद की जमीन पर कब्जा कर अवैध निर्माण कर लिए हैं। पार्षद छोटे यादव भी मौके पर पहुँचे। लोगों ने उनके सामने भी समस्याएँ रखीं। लोगों ने बताया कि उन्होंने महापौर को सैफी नगर आने के लिए फोन लगाया था, वे बुधवार सुबह सैफी नगर आकर मामला देखेंगे।

जमीन अवैध रूप से हस्तांतरित की

समाज के लोगों का आरोप था कि समाज को मस्जिद के लिए १ लाख ११ हजार वर्गफुट जमीन एक रुपए वर्गफुट की दर से लीज पर मिली थी। लेकिन कुछ रसूखदार लोगों ने इसमें से ९१ हजार वर्गफुट जमीन अवैध रूप से हस्तांतरित कर अवैध निर्माण कर लिए हैं। अवैध निर्माण को हटाने के लिए कई बार निगम में आवेदन दे चुके हैं लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। इन लोगों का आरोप था कि अवैध निर्माणों की वजह से ही मंगलवार को हादसे के बाद फायर ब्रिगेड की गाड़ियाँ मस्जिद परिसर तक नहीं पहुँच सकीं। जगह नहीं होने की वजह से डॉ.अली को मस्जिद से बाहर लाने में काफी वक्त लग गया जो उनके लिए जानलेवा साबित हुआ। लोगों ने बताया कि हादसे में १२ से १५ महिलाएँ भी घायल हुई हैं।प्रसिद्ध नेत्र चिकित्सक थे

डॉ. असगर अली शहर के जाने-माने नेत्र चिकित्सक थे। उनका खातीवाला टेंक में क्लिनिक है। उसी इमारत में उनके बेटे कुरैश का सिटी ऑप्टिकल नामक दुकान है। हादसे के दौरान कुरैश भी वहीं मौजूद था। ङ"ख८ऋ

"सचयी×चार्रबथ़ैहर्कनगीग़ि११२९३३७.ीॅजऋऽऽऽडॉ. असगर अलीऋ

्‌ीटा्रमंगलवार दोपहर सैफी नगर स्थित बोहरा मस्जिद का छज्जा गिरने से अफरा-तफरी मच गई। फोटो : विजय शर्मा ङ"ख८ऋ

"सचयी×चार्रबथ़ैहर्कनगीग़ि११२९३३८.ीॅजऋ

"सचयी×चार्रबथ़ैहर्कनगीग़ि११२९३३९.ीॅजऋ

-ीचगनैही्रसैफी नगर मस्जिद में वाअज के दौरान हादसा

छज्जा गिरा, डॉक्टर की मौत ङ"ख७८ऋ

्‌ीटा्रइंदौर। सैफी नगर स्थित बोहरा मस्जिद में मंगलवार को उस समय अफरा-तफरी मच गई जब वहाँ चल रही वाअज (प्रवचन) के दौरान छज्जा और सी़िढ़याँ भरभराकर ढह गईं। छज्जे और सी़िढ़यों के नीचे मौजूद आधा दर्जन से अधिक लोग दब गए। अन्य लोगों ने किसी तरह मलबा हटाकर घायलों को बाहर निकाला और अस्पताल ले गए। उपचार के दौरान घायल एक डॉक्टर की मौत हो गई जबकि ३ महिलाओं सहित ४ लोगों का उपचार निजी अस्पतालों में किया जा रहा है।

थाना जूनी इंदौर पुलिस के अनुसार हादसा दोपहर करीब २ बजे हुआ। मोहर्रम के अवसर पर सैफी नगर स्थित बोहरा समाज की मस्जिद में ब़ड़ी संख्या में समाजजन मौजूद थे। वहाँ सैयदना साहब के पोते शहजादा टेखूम भाईसाहब वाअज फरमा रहे थे। बैठक व्यवस्था के लिए मस्जिद में ही लोहे के गर्डर और पाइप का छज्जा बनाया गया था। छज्जे तक आने-जाने के लिए सी़िढ़याँ भी बनाई गई थीं। छज्जे और सी़िढ़यों के नीचे धर्मावलंबी बैठकर तकरीर सुन रहे थे। वाअज और नमाज पूरी होने के बाद जब लोग बाहर निकलने लगे, इसी दौरान छज्जे का एक हिस्सा भरभराकर गिर गया। इसके साथ ही छज्जे से जु़ड़ी लोहे की सी़ढ़ी भी श्रद्धालुओं पर जा गिरी। इससे वहाँ मौजूद लोग मलबे में दब गए। मस्जिद में अफरा-तफरी मच गई। भीतर मौजूद लोगों ने तुरंत मलबा हटाना शुरू कर दिया। लगभग बीस मिनट बाद मलबे से लोगों को बाहर निकालना शुरू कर दिया गया था। घायलों को नजदीकी अस्पतालों में ले जाया गया। उपचार के दौरान नेत्ररोग विशेषज्ञ डॉ. असगर अली पानबिहारवाला की मौत हो गई। उनकी कमर की हड्डी टूटने के साथ ही सिर व अन्य स्थानों पर गंभीर चोट आई थी। जबकि तीन महिलाओं सहित चार घायलों का विभिन्ना अस्पतालों में उपचार जारी है। जिस वक्त हादसा हुआ उस वक्त छज्जे पर ब़ड़ी संख्या में महिलाएँ भी मौजूद थीं। हादसा होते ही उनमें दहशत फैल गई। उनकी चीख-पुकार से वहाँ अफरा-तफरी का माहौल बन गया। छज्जे पर मौजूद लोगों में किसी भी तरह नीचे उतरने की ह़ड़ब़ड़ी में सब एक-दूसरे से गुत्थम-गुत्था होने लगे। किसी तरह लोगों को नीचे उतारने के बाद उन्हें घर रवाना किया गया।

अस्पताल में हंगामा

उधर हादसे के बाद चोईथराम अस्पताल में जमा समाजजनों ने जमकर हंगामा मचाया। वे इस बात से नाराज थे कि आयोजनों में अग्रणी रहने वाले कथित प्रमुख लोग घटना के बाद अस्पताल तक नहीं पहुँचे। उधर अस्पताल पहुँचे कुछ वरिष्ठलोगों को भी समाज के लोगों के आक्रोश का सामना करना प़ड़ा। गुस्साए लोगों ने उनके वाहन की चाबी निकाल ली। बाद में समझाइश देने पर चाबी लौटाई गई। अस्पताल में मौजूद कुछ लोगों ने आरोप लगाया कि उन्होंने कई बार मस्जिद में बनाए गए अवैध छज्जों पर आपत्ति जताई थी, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। -नप्र

ozmujaheed
Posts: 889
Joined: Mon Oct 20, 2008 6:14 am

Re: Whats Happening in INDORE Jamaat?

#12

Unread post by ozmujaheed » Wed Nov 30, 2011 7:00 am

Blue can you translate,

Why do indore people think they are punished by mola not visiting, imagine if he did come would you not have paid more? I consider the visits by a zada a severe punishment , if they were paid remotely then better.

Who in their right mind would pay wajebat twice ? What fools , and anyway why bother their intentions are counted, is that not why they pay even once, to gain khushi

Now do kothars know their are safer ways of storing money, people call banks, I thought India had moved on from carrying cash in suitcases.

I know drug dealers, terrorists and criminals transfer real cash, why would paak dawaat officials do the same?